शराब से मुलाक़ात

कहीं मैं ग़ालिब ना हो जाऊं डरता हूँ आमिर,
इसलिए ना की है शराब से मुलाकात अब तक,

देखा है कई परवानों को डूबते इश्क-ए-दरिया,
उस दीवानगी का मुझको ईश्क होना बाक़ी है.

%d bloggers like this: